Medicines

एड्स रोगियों के लिए "निवोलुमैब" आशा की किरण

लंदन : फ्रांस के चिकित्सकों के सामने ऐसा एक केस आया है।जिसमें कैंसर के इलाज में प्रयोग होने वाली दवाओं से एचआइवी संक्रमित कोशिकाएं भी खत्म हो सकती हैं। फेफड़े के कैंसर से पीड़ित 51 वर्षीय मरीज को दिसंबर 2016 के बाद से 14 दिनों के अंतराल पर निवोलुमैब(ओपडिवो)नामक दवा का इंजेक्शन दिया गया। यह दवा पीडी-1 प्रोटीन को अवरुद्ध कर कैंसर से शरीर का बचाव करती है। कैंसर से पीड़ित यह शख्स 1995 से ही एचआइवी संक्रमण का भी शिकार था। 120 दिनों तक चले इलाज के बाद डॉक्टरों ने पाया कि मरीज के शरीर में मौजूद एचआइवी संक्रमित कोशिकाओं की संख्या घट रही है।एचआइवी संक्रमण दूर करने में उपयोगी :-पेरिस हॉस्पिटल के डॉक्टर जीनफिलिप स्पैनो के अनुसार यह अभी तक का पहला केस है। इसलिए हमें सावधान रहना चाहिए। पुराने मामलों में इस तरह का कोई प्रभाव नहीं दिखा था। एचआइवी संक्रमित कोशिकाओं में आई कमी मरीज के जीन या प्रतिरोधी क्षमता की वजह से भी हो सकती है। इसके बावजूद डॉक्टर मान रहे हैं कि इससे एचआइवी संक्रमण के रोकथाम में मदद मिल सकती ह

संतुलित आहार की कमी से कमजोर होता इम्यूनसिस्टम - डॉ.संधु

स्‍वाईन फ्लू, डेगू, मलेरिया उपचार एवं बचाव संबंधी बुधवार शाम को मीडिया कार्यशाला का आयोजन स्‍थानीय मंगल होटल में किया गया। 

मच्छर काटने से नहीं होगा डेंगू !

देश में से डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया को पूरी तरह से खत्म करने भारत सरकार ने 2027 तक का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके लिए जबलपुर के आईसीएमआर(इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) के एनआईआरटीएच(सेंटर नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर रिसर्च इन ट्राइबल हेल्थ) में अनुसंधान आरम्भ हो गया है।

आमजन का लू से बचाव जरुरी -कलेक्टर जामोद

जिला कलेक्टर बी.एस.जामोद ने सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय, खण्ड चिकित्सा अधिकारी तथा समस्त चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा भीषण गर्मी एवं लू तापघात से बचाव हेतु लोगों को आवश्यक सलाह दी जाए तथा लू से बचने के सभी आवश्यक उपाये समय रहते किये जाए।

Pages