Breaking News

बीएसएफ बनाएगी दंगा में जला जवान मो.अनीस का घर !

दिल्ली:यहाँ बहुत ही क्रूरतम तरीकों से दंगाइयों ने केवल लोगों की जान ही नहीं ली अपितु यहाँ रह रहे लोगों के घरों तक को फूंक कर खाक कर दिया। दंगाइयों ने खजूरी खास इलाके में सीमा सुरक्षा बल (बी.एस.एफ.) के जवान मोहम्मद अनीस का घर भी जला दिया था। तीन महीने बाद ही अनीस की शादी होने वाली थी। अनीस ने इस हादसे की जानकारी अपने सीनियर्स को नहीं दी थी। किन्तु समाचारों के जरिए उसके वरिष्ठों तक यह बात पहुंची और अब बी.एस.एफ.अपने जवान की मदद करने के लिए सामने आया है।बी.एस.एफ. के डीजी ने कहा कि वह अपने जवान के घर बनाने में हरसंभव मदद करेंगे।बी.एस.एफ. ने की मदद की  पेशकश :-अनीस के घर जलाने की खबर समाचार माध्यमों के जरिए बी.एस.एफ.को मिली। इसके तुरंत बाद बी.एस.एफ.ने अपने जवान के घरवालों को मदद की पेशकश कर दी। दंगाइयों द्वारा अनीस का घर जला देने की रिपोर्ट देखने के बाद बी.एस.एफ. ने जवान के जरिए उसके पिता से संपर्क साध मदद की पेशकश की।किसी तरह बची थी परिजनों की जान:-बी.एस.एफ. ने जवान अनीस के पिता मोहम्मद मुनिस (55), चाचा मोहम्मद अहमद (59) और 18 वर्षीय बहन नेहा परवीन को मदद की पेशकश की। दंगे के समय ये सभी घर में ही थे। हालांकि, किसी तरह से वे किसी तरह से भागने में सफल रहे थे। वहां से भागकर वे अपने संबंधियों के घर पहुंचे। इसके बाद 25 फरवरी को सुरक्षाबलों ने उनकी मदद की।बी.एस.एफ. के डीजी बोले, अनीस की शादी का तोहफा:-बी.एस.एफ. के डायरेक्टर जनरल विवेक जोहरी ने बताया, 'हम पीड़ित जवान की वित्तीय मदद करेंगे और उसका घर बनाने में सहायता करेंगे। इंजिनियरिंग विभाग की एक टीम जवान के घर पर क्षति का आकलन कर रही है।' कांस्टेबल अनीस को बी.एस.एफ.वेलफेयर फंड से 5 लाख का चेक दिया जाएगा। बी.एस.एफ. चीफ ने कहा कि जवान की तीन महीने बाद शादी होने वाली थी, तो यह उसके लिए हमारी तरफ से तोहफा होगा। अनीस ने 2013 में बी.एस.एफ. में अपना करियर शुरू किया और करीब 3 साल जम्मू-कश्मीर में सेवा दी।ओडिशा में तैनात हैं अनीस:-पुष्पेंद्र राठौर डी.आई.जी. हेडक्वॉर्टर ने बताया कि जवान अनीस अभी ओडिशा में तैनात हैं और शीघ्र ही उनका दिल्ली ट्रांसफर होगा।