मुंबई की जमीं पर टीम इंडिया ने रचा शानदार इतिहास !

मुंबई:वानखेड़े स्टेडियम में टीम इंडिया ने इग्लैंड को चौथे टेस्ट में पारी और 36 रन से मात देकर मुंबई की जमीं पर इतिहास रच दिया। इंग्लैंड ने अंतिम दिन सुबह 182/6 से आगे खेलना शुरू किया था और उसकी पारी पहली ही सत्र में 195 रन पर ऑल आउट हो गई। अश्विन ने छह विकेट लिए। इस तरह मैच में उनके खाते में कुल 12 विकेट गए। पांच मैचों की सीरीज में भारत ने 3-0 की बढ़त ले ली है। सीरीज का पहला टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। पांचवां टेस्ट 16 दिसंबर से चेन्नई में खेला जाएगा।पांचवें दिन का खेल शुरू होने के कुछ ही देर बाद अश्विन ने बेयरस्टो को 51 के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। वह अपने कल के स्कोर में केवल एक रन ही जोड़ सके। इसके बाद उन्होंने क्रिस वोक्स को खाता खोलने का मौका भी नहीं दिया और उन्हें 00 के स्कोर पर बोल्ड कर दिया। अश्विन का अगला शिकार आदिल रशीद (2) बने। अश्विन ने उन्हें लोकेश राहुल के हाथों कैच कराया। इसके बाद उन्होंने मैच का आखिरी विकेट एंडरसन (02) को आउट करके लिया। आखिरी दिन सभी चार विकेट अश्विन ने झटके। उन्होंने मैच में 12 विकेट झटके।ऐसी रही इंग्लैंड की दूसरी पारी:-भुवनेश्वर कुमार ने पहले ओवर की दूसरी ही गेंद पर जेनिंग्स (0) को एलबीडब्ल्यू आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई। इसके बाद जडेजा ने कुक (18) को एलबीडब्ल्यू आउट कर इंग्लैंड को दूसरा झटका दिया। मोइन अली को तो जडेजा ने खाता तक खोलने का मैका नहीं दिया। रूट (77) को जयंत यादव ने एलबीडब्ल्यू आउट कर भारत को चौथी सफलता दिलाई। अश्विन कहां पीछे रहने वाले थे। उनकी गेंद पर स्टोक्स 18 रन बनाकर आउट हुए। चौथे दिन की आखिरी गेंद पर अश्विन ने जैक बॉल (2) को पार्थिव पटेल के हाथों कैच आउट करा भारत को छठी कामयाबी दिलाई।भारत के पहली पारी में 631 रन :- भारत की पहली पारी 631 रन पर सिमटी गई। पहली पारी के आधार पर भारत को 231 रन की बढ़त मिली। भुवनेश्वर कुमार 9 रन बनाकर आदिल रशीद की गेंद पर वोक्स को कैच दे बैठे और भारत की पहली पारी सिमट गई। विराट कोहली 235 रन बनाकर आउट हुए। वहीं, जयंत यादव ने शतक जमाने के बाद का ध्यान भटका और 104 रन पर रशीद की गेंद पर वह स्टंप आउट हो गए।इंग्लैंड की पहली पारी 400 पर सिमटी:-इंग्लैंड की पूरी टीम 400 रन पर आउट हो गई थी। इंग्लैंड की ओर से कीटन जेनिंग्स ने 112, जो बटलर ने 76, मोइन अली ने 50 और एलेस्टर कुक ने 46 रनों का योगदान दिया। भारत की ओर से पहली पारी में केवल स्पिनरों को ही सफलता मिली। रविचंद्रन अश्विन ने 6 और रवींद्र जडेजा ने 4 विकेट लिए थे।