आमजन का लू से बचाव जरुरी -कलेक्टर जामोद

अशोकनगर : देश में इन दिनों जिले सहित तमाम जगह पर गर्मी का प्रचंड प्रकोप अपने पैर पसार रहा है। जिससे निपटने के लिए तथा आमजान को इससे कैसे बचाया जा सके इस बात को ध्यान रखते हुए अशोकनगर जिला कलेक्टर बी.एस.जामोद ने सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय, खण्ड चिकित्सा अधिकारी तथा समस्त चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा भीषण गर्मी एवं लू तापघात से बचाव हेतु लोगों को आवश्यक सलाह दी जाए तथा लू से बचने के सभी आवश्यक उपाये समय रहते किये जाए।लू से बचाव के उपाय :- गर्मी के दिनों में धूप में बाहर जाते समय सदैव सफेद या हल्के रंग के ढीले कपडों का प्रयोग करे एवं टोपी, रंगीन चश्मा व छतरी का उपयोग अवष्य करे तथा अत्यधिक पानी पीयें। गर्मी के दिनो में अपने घरों को ठण्डा रखे। दरवाजे एवं खिडकियाॅ बंद रखे एवं रात में तापमान कम होने के समय खिडकियाॅ एवं दरवाजे को खोले जा सकते है। गर्मी के दिनों मंे तापमान 35 डिग्री से अधिक होन पर अधिक मात्रा मे पेये पदार्थ पीयें । गर्मी के दिनो मे जहा तक संभव हो बाहर न जायें। धूप मे खडे होकर व्यायाम मेहनत /अन्य कार्य न करे बहूत अधिक भीड गर्म घुटन भरे कमरों ,रेल ,बस आदि की यात्रा गर्मी के मौसम मे अत्यावश्यक होेने पर ही करें । गर्मी के मौसम में अपने शरीर को ठण्डा रखने हेतु ठण्डे पानी से स्नान करें अथवा ठण्डे कपड़ों से शरीर को ढकें । गर्मी के दिनों में चक्कर, घबराहट, कमजोरी, अत्यधिक प्यास लगना एवं सिर मे दर्द, हाथ पैरो मे जकड़न की शिकायत हो तो शीघ्र अतिशीघ्र ठण्डी जगह पर जाकर आराम करें एवं अपने शरीर का तापमान लेवें । अगर उपयुक्त उपचार से आराम न मिले तो तत्काल निकट के स्वास्थ्य केन्द्र में जाये । अगर स्वास्थ्य केन्द्र में रेफर करने में विलम्ब हो रहा हो तो ऐसे मरीजों को सीधा लेटाकर पैरों की तरफ सेऊँचा करें एवं ठंडे पानी में कपड़ा भिगोकर शरीर को ढंक देंवे । गर्मी के मौसम में गर्दन के पीछे का भाग, कान और सिर को गमछे अथवा तौलिये से ढंककर ही धूप में निकले। ओ.आर.एस ,अन्य पेय पदार्थ जैसे लस्सी ,चावल का पानी ,नींबू पानी ,छाछ आदि का उपयोग करे। दोपहर 12 से 3 बजे के समय घर से बाहर न जावें एवं अधिक से अधिक पानी पीयें। हल्के, ढीले, हवादार एवं सूती कपड़े पहनकर ही घर से बाहर निकले। यात्रा करने समय पानी अवश्य रखें एवं समय-समय पर पानी पीते रहे, चाय, काॅफी, एल्कोहल वाले पेय, कार्बोनेटेट पदार्थ का उपयोग न करे । गर्मी के मौसम में बाहर का खाना एवं बासीं खाना ,दूषित जल एवं सड़े - गले फलों का सेवन न करें।लू लगने पर प्राथमिक उपचार:-यदि कोई व्यक्ति लू से पीडित है तो प्राथमिक उपचार में रोगी को तुरंत छायादार जगह पर कपडे ढीले कर लिटाये एवं हवा करें रोगी को होश में आने की दशा में उसे ठण्डे पेय पदार्थ, जीवन रक्षक घोल ,कच्चा आम का पना, निम्बू पानी आदि ठंडे पेय पदार्थ पिलाये, तापमान नियंत्रण हेतु कच्चे प्याज का रस एवं जौ के आटे से मला जा सकता है। संभव हो तो ठंडे पानी से स्नान कराये अथवा मरीज के शरीर पर ठंडे पानी की पट्टीया रखें , गंभीर स्थिति में मरीज को निकट के स्वास्थ्य केन्द्र भेजा जावे।

Tags: