सोनागाछी रेड लाइट एरिया में इस बार दुर्गा पूजा की धूम !

 

 कोलकाता: उत्तरी कोलकाता के सोनागाछी में इस बार दुर्गा पूजा की धूम है। यह एशिया के सबसे बड़े रेड लाइट एरिया कहलाता है ,यहां रह रहीं सेक्स वर्कर्स को विगत पांच पांच वर्षों में पहली बार ये मौका मिला है,जब वो इस उत्सव को धूमधाम से मना रही हैं।उत्तरी कोलकाता के सोनागाछी का यह समुदाय साल 2013 से ही खुद के दुर्गा पूजा का आयोजन कर रहा है। हालांकि, कोलकाता उच्च न्यायालय के फैसले के अनुसार उनका यह आयोजन एक छोटे सामुदायिक हॉल तक में ही सीमित था।दरबार महिला समन्वय समिति की सचिव काजोल बोस ने कहा, "हमने हर साल की तरह पिछले साल उच्च न्यायालय में अपील नहीं की थी, इसलिए 2016 में पूजा का आयोजन नहीं किया जा सका था।उच्च न्यायालय का पक्ष में फैसला :-इस बार उच्च न्यायालय ने हमारे पक्ष में फैसला सुनाया और अब हम एक बड़े स्तर पर पूजा का आयोजन करने जा रहे हैं। 4 लाख के बजट के साथ विगत वर्षों की तुलना में दोगुनी 20 फीट की ऊंचाई दुर्गा मूर्ति की स्थापना करने जा रहे हैं। यह ध्यान देने वाली बात है कि, कोलकाता में सेक्स वर्कर्स कम्यूनिटी की यह एकमात्र दुर्गा पूजा है। कोर्ट के द्वारा पांच सदस्यीय टीम बनाई गई जिसमें पुलिस, कोलकाता नगर निगम, अग्निशमन विभाग और हमारे सामूहिक प्रतिनिधियों को रखा गया था। इन्हें पूजा का स्थान निर्धारित करने को कहा गया था।अष्टमी के दिन खिचड़ी का भोग:- इस पूजा में समुदाय से 20,000 लोगों के आने की उम्मीद है साथ ही खास तरह के प्रसाद की व्यवस्था भी की गई है।बोस ने कहा, "हम सेक्स वर्करों के व्यस्त होने के कारण हमने एक ऐसी टीम रखी है जो सारी व्यवस्थाओं को देखेगा। अष्टमी के दिन खिचड़ी का भोग प्रदान किया जाएगा जो केवल सोनागाछी नहीं, बल्कि अन्य आगंतुकों के लिए भी होगा।सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस साल सोनागाछी के अतिरिक्त बशीरहट, बिश्नुपुर और कूच बेहार के सेक्स वर्कर्स समुदाय में भी अपने उत्सव बड़े ही हर्षोल्लास से मनाए जा रहे हैं।
Tags: