यमन के पूर्व राष्ट्रपति सालेह की हत्या !

सना: सोमवार को हूती विद्रोहियों ने पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह की हत्या कर दी। यमन में विद्रोहियों के गठबंधन के टूटने के बाद सना में भीषण मुठभेड़ होने के बीच सना में सालेह के करीबी बलों और ईरान समर्थित शिया विद्रोहियों के बीच भारी गोलीबारी हो रही है।तीन वर्ष पूर्व दोनों ने संयुक्त रूप से सना के एक खासे हिस्से पर कब्जा कर लिया था। हूती नियंत्रित आंतरिक मंत्रालय ने सालेह की मौत की अल-मसीराह टेलीविजन स्टेशन पर घोषणा की। पिछले सप्ताह गठबंधन टूटने के साथ राजधानी में भीषण जंग शुरू हो गई।मुख्य मस्जिदको लेकर विवाद :- गौरतलब है कि यमन के गृहयुद्ध में सालेह और हूती विद्रोही एक ही तरफ थे। तब उनके निशाने पर यमन के मौजूदा राष्ट्रपति अब्दाराबूह मंसूर हादी थे। मगर, राजधानी सना की मुख्य मस्जिद के नियंत्रण को लेकर हुए विवाद के बाद दोनों पक्षों में विवाद हो गया था।अब तक 8,670 लोगों की मौत :-संयुक्त राष्ट्र के अनुसार मार्च 2015 में शुरू हुए यमन के गृहयुद्ध में अब तक 8,670 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं, 49 हजार से अधिक लोग घायल हुए हैं। यमन के गृहयुद्ध की वजह से सऊदी अरब ने नाकेबंदी कर दी है, जिससे यमन में खाने पीने की चीजों की किल्लत हो गई है।मिलिशिया के नेता की मौत :-मस्जिद के लिए हुई झड़पों में 125 से अधिक जानें गईं और 238 लोग घायल हुए। हूती विद्रोहियों के नियंत्रण वाले मीडिया ने कहा कि विश्वासघाती मिलिशिया के नेता की मौत से संकट का अंत हो गया है।

Tags: