35 वे शतक के साथ सीरीज के अंतिम मैच में कोहली ने किये अनेकों रिकॉर्ड ध्वस्त !

दिल्ली : भारत ने कप्तान विराट कोहली के आक्रामक शतक के दम पर सीरीज के छठे और अंतिम वनडे मैच में आठ विकेट से जीत दर्ज की। इसके साथ ही भारत ने सीरीज पर 5-1 से अपना कब्जा जमाया। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए द.अफ्रीका की टीम 46.5 ओवर में 205 रन पर सिमट गई। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली के शतक की बदौलत टीम इंडिया ने आसानी से जीत हासिल कर ली। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने कितनी ही यह उपलब्धियांअपने नाम कर डालीं।विदेश में द्विपक्षीय सीरीज़ में भारत की 5 जीत :-भारतीय क्रिकेट इतिहास में ये तीसरा मौका रहा जब भारत ने विदेशी धरती पर किसी द्विपक्षीय वनडे सीरीज़ के पांच मैच जीते हों। 5-0 बनाम ज़िम्बाब्वे 2013,5-0 बनाम श्रीलंका 2017."चाकू" ने बनाया रिकॉर्ड:-इस वनडे सीरीज़ में चाकू (कुलदीप और चहल) ने मिलकर 33 विकेट लिए। कुलदीप ने इस सीरीज़ में 17 शिकार किए तो वहीं युजवेंद्र चहल ने अपने साथी से एक कम 16 विकेट अपने नाम किए। इसी के साथ ये दोनों किसी भी द्विपक्षीय सीरीज़ में सबसे अधिक विकेट लेने वाले स्पिन गेंदबाज़ों में क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर आ गए हैं। किसी भी द्विपक्षीय सीरीज़ में स्पिनर द्वारा सबसे अधिक विकेट लेने के में अमित मिश्रा नंबर वन पर काबिज हैं। मिश्रा ने जिम्बाब्वे के विरुद्ध 5 मैचों में 18 विकेट चटकाए थे।शार्दुल का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन:-छठे एवं अंतिम मुकाबले में भुवनेश्वर कुमार की जगह शार्दुल ठाकुर को मौका दिया गया। ये उनके करियर का तीसरा और सीरीज में अपना पहला अवसर रहा।जिसमें इस युवा तेज गेंदबाज ने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर दिखाया। ठाकुर ने सीरीज़ के आखिरी मुकाबले में 52 रन देकर चार विकेट झटके। उन्होंने द. अफ्रीका के दोनों ओपनर मार्करम और अमला दोनों को तो वापस पवेलियन भेजा ही, इसके साथ ही साथ ठाकुर ने फेहलुकवायो और फरहान बेहारदीन को भी आउट किया।कोहली ने लगाया 35वां शतक:-विराट कोहली ने करियर का 35वां शतक जड़ते हुए नाबाद 129 रन की पारी खेली। 96 गेंदों की अपनी पारी में उन्होंने 19 चौके और दो छक्के जड़े, जिससे भारत ने 32.1 ओवर में दो विकेट पर 206 रन बनाकर मैच अपने नाम किया।सबसे आगे कोहली:-इस सीरीज़़ में 558 रन बनाकर विराट कोहली किसी भी एक द्विपक्षीय वनडे सीरीज सबसे अधिक रन बनाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले ये रिकॉर्ड रोहित शर्मा के नाम था। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 491 रन बनाए थे। विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर कुल 800 इंटरनेशनल रन बनाए। इस दौरान उन्होंने तीन टेस्ट और 6 वनडे मैचों की सीरीज खेली जिसमें 3 वनडे और 1 टेस्ट शतक भी शामिल है।कोहली ने की डिविलियर्स की बराबरी:-बतौर कप्तान सबसे अधिक शतक लगाने का रिकॉर्ड रिकी पोंटिंग के नाम है। पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी करते हुए 220 पारियों में 22 शतक लगाए थे। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर एबी डिविलियर्स का नाम था। डिविलियर्स ने द. अफ्रीका का कप्तान रहते हुए 98 पारियों में 13 शतक लगाए थे और आखिरी वनडे में शतक लगाते ही विराट ने डिविलियर्स के 13 शतकों की बराबरी कर ली। खास बात ये है कि कोहली ने ये शतक डिविलियर्स द्वारा खेली गई आधी से भी कम इनिंग (46) में बनाए हैं। विराट ने लिए विराट 100 कैच:-इस वनडे मैच में कोहली ने बुमराह की गेंद पर इमरान ताहिर (02) का कैच पकड़ कर वनडे क्रिकेट में 100 कैच भी पूरे कर लिए। द. अफ्रीका की धरती पर सबसे अधिक रन:-कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान किसी भी द्विपक्षीय सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी बनाया। उन्होंने आखिरी वनडे में जैसे ही अपना 38वां रन लिया,वैसे ही उन्होंने इंग्लैंड के केविन पीटरसन को पीछे छोड़ दिया। पीटरसन ने साल 2005 में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर 6 मैचों में 454 रन बनाए थे।विराट कोहली 558 रन 6 इनिंग साल 2018 दक्षिण अफ्रीका,केविन पीटरसन 454 रन 6 इनिंग साल 2005 दक्षिण अफ्रीका,हाशिम अमला 413 रन 4 इनिंग साल 2015वेस्टइंडीज,फॉफ डुप्लेसिस 410 रन 5 इनिंग साल 2017श्रीलंका।सबसे तेज़ 17 हज़ारी :-कोहली ने सेंचुरियन वनडे में जैसे ही अपनी पारी का 31वां रन बनाया उन्होंने एक और कीर्तिमान अपने नाम कर लिया। उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे कम पारियों में 17000 रन पूरे कर लिये। यह कारनामा कोहली ने मात्र 361 पारियों में कर दिखाया। आपको बता दें कि कोहली ने सबसे कम मैचों में 16000 और 15000 इंटरनेशनल रन भी पूरे किये थे। इसके पहले यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला के नाम था।वनडे में 9500 रन:-विराट कोहली ने वनडे सीरीज के आखिरी वनडे की पारी में शतक लगाकर अपने वनडे करियर के 9500 रन भी पूरे कर लिये। विराट ने वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज 9500 रन पूरे किये हैं जिसके लिये विराट को 208 वनडे मैच की 200 पारियां खेलनी पड़ी हैं। विराट ने जैसे ही अपनी पारी का 41 वां रन लिया वो इस क्लब में शामिल हो गए।विवियन रिचर्ड्स को कोहली ने छोड़ा पीछे :- 5-1बनाम द. अफ्रीका 2018 ,इस प्रकार देखा जाये तो अपने समय के महानतम सर विवियन रिचर्ड्स को भी विराट कोहली ने अपने महानतम प्रदर्शन से अत्यंत से पीछे छोड़ दिया है।
Tags: