सूफी गायक प्यारेलाल वडाली का दुःखद निधन !

अमृतसर : सूफी गायक पूरनचंद -प्यारेलाल वडाली बंधु के नाम से लोकप्रिय रहे इन सूफी गायको की जोड़ी की आवाज के जादू को कौन नहीं जनता । परन्तु अब उनके चाहने वालों के लिए यह समाचार अत्यंत ही दुखी करने वाला है। फिर भी इस दुखद सच्चाई को कैसे छुपाया जा सकता है। वडाली ब्रदर्स की जोड़ी के पद्मश्री पूरनचंद वडाली के छोटे भाई प्यारेलाल वडाली का शुक्रवार को हार्टअटैक के कारण निधन हो गया है। अमृतसर के फोर्टिस अस्पताल में ली अंतिम साँस :-प्यारेलाल कुछ समय से बीमार चल रहे थे और उन्हें अमृतसर के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती किया गया था। शुक्रवार की सुबह को उन्होंने अंतिम साँस ली है। सूफी गायन की 15 वी पीढ़ी के गायक :-प्यारेलाल वडाली ने तू माने या न माने दिलदारा जैसे कई गानों को आवाज दी है। प्यारेलाल वडाली के भतीजे लखविंदर वडाली ने उनके निधन की पुष्टि की है। बता दें कि दोनों भाईयों ने अपने करियर की शुरुआत पंजाब में संगीत सम्मेलन से की थी। वह सूफी सिंगर की 15वीं जेनरेशन के सिंगर थें।गज़ल और भजन के साथ अन्य गानों में भी दी आवाज :-अमृतसर के पास एक छोटे से गांव के रहने वाले वडाली ब्रदर्स अपनी गायकी के लिए दुनियाभर में मशहूर थे। सूफी म्यूजिक के अलावा दोनों भाईयों ने गुरबानी, काफी, गजल और भजन सांग्स भी गाये हैं। दोनों भाईयों ने पिंजर फिल्म में भी गाने गाये थे। इसके अलावा फिल्म तनु वेड्स मनु के हिट सांग रंगरेज मेरे को भी उन्होंने ही आवाज दी थी। दोनों भाईयों की जोड़ी गज़ल और भजन जैसी कई तरह की गायकी करते थे
Tags: