जिले की सीमा पर कलेक्टर जामोद का भव्य स्वागत !

 
 
 

अशोकनगर:मुंगावली विधानसभा उपनिर्वाचन के चलते मतदाता सूची में मिली अनियमितता के कारण ई सी ने आदेश देते हुए जिले में पदस्थ कलेक्टर को चुनाव प्रक्रिया से अलग करते हुए भोपाल मंत्रालय में ओ एस डी पद पर स्थानांतरण कर दिया था। अशोकनगर का कलेक्टर किस को नियुक्त किया जाये इसके लिए पैनल बनाने के आदेश देते हुए तीन नामों को माँगा था। जिसमे से व्ही. एस.चौधरी को जिला कलेक्टर की बागडोर सौंपी गई थी। जिसके चलते चौधरी ने चुनाव एवं मतगणना का कार्य शांति पूर्वक संपन्न कराया गया। किन्तु जैसाकि जिले में शुरू से ही यह चर्चा प्रशासन एवं आम जान में में होती रही की डी एम चौधरी शायद जिले में लम्बे समय नहीं रुक पाएंगे। यह कयास आचार संहिता के हटते ही साफ हो गई कि फिर से अशोकनगर कलेक्टर का पदभार फिर से बी. एस.जामोद को ही मिलसकता है। और यह अनुमान 10 मार्च को सही भी हो गया। जब म. प्र शासन ने आई ए एस की स्थानांतरण लिस्ट जारी की जिसमे अशोकनगर कलेक्टर व्ही एस चौधरी का तबादला कटनी कलेक्टर के रूप में तथा बी. एस.जामोद को फिर से अशोकनगर का कलेक्टर बनाने का आदेश दिया गया।जिले के इतिहास में है पहला मौका :- अशोकनगर का जिले के रूप में गठन विगत 15 अगस्त 2003 में हुआ था। जब से लगाकर अभी तकयह देखने में आया है की जिस किसी कलेक्टर का यहां से तबादला एकबार हो गया वो फिर कभी यहाँ पुनः कलेक्टर के रूप में पदस्थ नहीं हो पाया है। जामोद ही एकमात्र अशोकनगर के कलेक्टर हैं जिन्होंने इस परम्परा को तोड़ते हुए एक नया अध्याय लिखते हुए इतिहास निर्मित कर दिया है कि एक महीने के अंदर ही अपने पद पर फिर से कलेक्टर अशोकनगर के रूप में पदस्थ होने का गौरव प्राप्त किया है।जिले में प्रवेश करते ही हुआ भव्य स्वागत ;-अशोकनगर जिले की सीमा घाट बमुरिया से प्रारम्भ होती है। यहीं पर बड़ी संख्या में जिले के लोग अपने चहते जिलाधीश का पालक पांवड़े बिछाए इंतजार में डेट हुए थे जैसे ही बी इस जामोद की गाड़ी यहाँ आयी लोगों ने रोककर हर फूल गुलदस्तों के साथ डोलबाजों से बहुत ही शानदार गर्म जोशी हे स्वागत किया और यह काफिला एक जुलुश की शक्ल है करीला में जानकी माता मंदिर पहुंच अपनी मंटा पूरी करते हुए पूजा अर्चना करने के बाद अशोकनगर पहुंचा जहां पर भी लोग कलेक्टर बंगले के बहार खड़े अपने लादले कलेक्टर कका स्वागत करने बेटवी से इंतजार कर रहे थे। जैसे ही जामोद साहब का आगमन हुआ लोग गाजे बाजे के साथ झूमते हुए दादी की तरफ बडगए और दिल से स्वागत किया। इससे पूर्व ऐसा स्वागत आज से पहले किसी भी अधिकारी का अशोकनगर में इतना शानदार स्वागत नहीं हुआ।कलेक्टर ने किया पदभार ग्रहण ;-सोमवार को अशोकनगर जिला कलेक्टर का पद भार निवृत कलेक्टर व्ही एस चौधरी से सुबह लगभग ८बजे ग्रहण किया। कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात जिला अधिकारियों द्वारा कलेक्टर जामोद का गुलदस्ता भेंट कर तथा माला पहनाकर स्वाागत किया।इस के उपरांत आपने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा के लंबित पत्रों की समीक्षा बैठक भी ली जिसमें के दौरान जिला अधिकारियों को दिए। निर्देश देते हुए कलेक्टकर जामोद ने कहा कि जिले का सर्वागीण विकास कराना तथा जिले को शीघ्र खुले में शौच मुक्त कराना पहली प्राथमिकता होगी। लंबित पत्रों की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश:- माह मार्च 2018 तक अशोकनगर जिला खुले में शौच मुक्तख हो ऐसे प्रयास सभी अधिकारियों द्वारा जिम्मेरदारी के साथ किये जाएं। इस आशय के निर्देश कलेक्टर श्री बी.एस. जामोद द्वारा सोमवार को कलेक्ट्रे ट सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा के लंबित पत्रों की समीक्षा बैठक के दौरान जिला अधिकारियों को दिए। बैठक में सी.एम.हेल्पलाइन, जनसुनवाई, पी.जी.सेल, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास, स्वाच्छप भारत मिशन, मार्च माह में सेवानिवृत होने वाले अधिकारी, कर्मचारी तथा पेंशन प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा कर आवश्यंक निर्देश दिए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुरेश कुमार शर्मा, अपर कलेक्टर ए.के.चांदिल, समस्त एस.डी.एम, तहसीलदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, मुख्य नगरपालिका अधिकारी एंव जिला अधिकारी उपस्थित थे।

Tags: