अभिव्यक्ति की आजादी का मतलब दूसरों का अपमान नहीं - पोप फ्रांसिस

फिलिपींस:;पोप फ्रांसिस ने कहा कि अभिव्यक्ति की सीमा की एक सीमा होती है, खासकर जब वह किसी और के धर्म का मजाक या अपमान करे। पोप ने यह बात गुरूवार को अपने विशेष विमान से फिलिपींस जाते हुए पत्रकारों से पेरिस में हुए आतंकी हमले के संबंध में कही।हालांकि, पोप ने कहा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रा न सिर्फ एक मौलिक अधिकार है, अपितु अपनी बात रखने की जिम्मेदारी भी होती है। लेकिन, इसकी भी एक सीमा होती है। आप किसी और के धर्म का अपमान नहीं कर सकते, न ही आप किसी को उकसा सकते हो।पेरिस पर हुए आतंकी हमले की निंदा करने वाले पोस से पत्रकारों ने धर्म मानने की आजादी और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बीच रिश्तों को लेकर सवाल पूछा था। इसपर पोर ने कहा कि मेरा मानना है कि यह दोनों बाते मौलिक अधिकार हैं।श्रीलंका से फिलिपींस जाते हुए पोप ने कहा कि हर व्यक्ति को अपना धर्म मानने का अधिकार है, ठीक उसी तरह अभिव्यक्ति की आजादी भी एक मौलिक अधिकार है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं की आप दूसरे धर्म का अपमान या मजाक उड़ाएं।

पृथ्वी के आकार का हीरा !

वाशिंगटन: हीरा एक से एक बड़े से बड़े आकार का आपने देखा होगा, परन्तु इतने बड़े आकार का नहीं, क्योंकि यह कोई एक-दो किलो का नहीं बल्कि पूरी पृथ्वी के जितना बड़ा है।दरअसल खगोलविदों की एक टीम ने एक छोटे तारे की खोज की है जो अब तक खोजे गए सभी तारों से अधिक ठंडा तथा चमकीला है। यह अतिप्राचीन तारा इतना ठंडा है कि इस पर उपस्थित कार्बन क्रिस्टल बनकर अपनी चमक से अंतरिक्ष में धरती के आकार का हीरा होने जैसा दिख रहा है।वैज्ञानिकों का कहना है कि इस तारे की उम्र हमारी आकाशगंगा जितनी ही हो सकती है। आकाशगंगा की उम्र लगभग 11 अरब वर्ष है। इस बारे में यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन मिलवॉकी के प्रोफेसर डेविड कैपलन का कहना है कि यह एक उल्लेखनीय उपलब्धि है। हीरे के जैसे इस तारे को कैपलन और उनके साथियों ने नेशनल रेडियो एस्ट्रोनॉमी ऑब्जर्वेटरी ग्रीन बैंक टेलीस्कोप तथा बहुत बड़े आकार वाले बेसलाइन एरे एवं अन्य प्रक्रियाओं के जरिए खोजा है।वैज्ञानिकों ने अपनी गणना में पाया कि इस छोटे से ठंडे तारे का

युवा हो रहे नशे का शिकार !

दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली  में युवा नशे का शिकार होते जा रहे हैं। युवा अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा शराब में खर्च कर रहे हैं। हाल में किए गए एक सर्वे में खुलासा हुआ है शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों से मामूली जुर्माना वसूलकर उन्हें छोड़ दिया जाता है। इनमें से कुछ लोग रिश्वत देकर बच भी जाते हैं।यह सर्वे विगत दिनों कम्युनिटी अगेंस्ट ड्रंकन ड्राइविंग यानी कैड नामक संस्था ने किया है। कैड के संस्थापक प्रिंस सहगल के अनुसार 25 वर्ष से कम आयु वाले लोगों को शराब बेचने पर सख्ती से पाबंदी लगाई जाए तो सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या में अवश्य ही कमी आएगी। उनका कहना है कि शराब न पीने वाले अधिकतर लोगों का ऎसा ही मानना है। गौरतलब है कि देश में सड़क दुर्घटना में प्रतिवर्ष एक लाख 38 हजार लोगों की जान जाती है। इस आंकड़े में शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों की संख्या अच्छी खासी है।कम उम्र में शराब की लत के बढ़ने का एक कारण यह भी है कि यहां पब अथवा दुकान पर शराब खरीदते समय कभी किसी से आयु प्रमाणपत्र

दर्दनाक चीख – बबीता जैन

अशोकनगर: कुछ दिन पहले मैं अपनी एक सहेली के घर उससे मिलने गई थी | वो सुबक सुबक कर रो रही थी | कारण पूछने पर पता चला कि उसके किसी पसंदिदा धारावाहिक के नायक ने नायिका के साथ पह ले बलात्कार किया और फिर उसे ज़िंदा जला दिया | अपनी प्रिय नायिका का यह हश्र मेरी सहेली बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी और काल्पनिक धारावाहिक के मुजरिम को अपनी बद्दुआओ. से कोस रही थी | खैर एक काल्पनिक कुकर्म के लिए मैंने भी उसे सांतवा दे दी और मेरी पीड़ा भी उसके सामने रख दी जिससे मैं पिछले काफी दिनों से दुखी थी |अखबारों में छपने वाली आये दिन होने वाली बलात्कार की घटनाएं , दहेज़ के लिए लड़की को मारने की घटनाएं और नाबालिग बच्चियों के साथ आये दिन होने वाली हैवानियत मुझे परेशान कर रही थी | लेकिन उसने मेरे जख्मों पर एक ही वाक्य में ठंडा सा जबाब देकर नमक डाल दिया कि इसमें कौनसी बड़ी बात है ?

अंडरब्रिज निर्माण हादसे में आईओडब्ल्यू मृत !

अशोकनगर: रविवार को गुना-बीना रेलखंड पर अशोकनगर जिले में पिपरई के पास रेलवे गेट नंबर 29 पर अंडर ब्रिज निर्माण के दौरान मिट्टी धंसकने से एक आईओडब्ल्यू की मौत हो गई है। वहीं 18 मजदूर घायल हुए हैं।गुना-बीना रेलखंड पर अंडरब्रिज निर्माण के दौरान हुए हादसे के पश्चात फिलहाल रेलवे ने अंडर ब्रिज निर्माण को रोक दिया है।रेलवे प्रशासन ने गड्ढे को मिट्टी भरकर समतल कर दिया गया है। जिसके उपरांत ही शाम 6.45 तक रेलवे यातायात बहाल किया जा सका। अंडरब्रिज निर्माण के लिए निर्माण स्थल के पास के गांव देसाईखेड़ा तथा गजरांटांका के मजदूरों को लगाया गया । जिन्हें रविवार सुबह 4.00 बजे ठेकेदार का आदमी काम के लिए बुलाकर ले गया था। रेलवे ट्रेक भी 6.50 बजे से बंद करवा दिया गया था।रविवार को निर्माण के दौरान करीब 18 मजदूरों को गड्ढे में उतारा गया था। वहीं भोपाल से आए सीनियर सेक्शन इंजीनियर एमके जैन तथा कुछ मजदूर ऊपर खड़े थे। करीब 11.15 बजे अचानक जेसीबी के हेड टकरा जाने से मिट्ट

Pages