Breaking News

नॉर्थ-ईस्ट लोगों में बिल का भारी विरोध-प्रदर्शन जारी !

गुवाहाटी: केंद्र सरकार ने चाहे संसद के दोनों सदनों में किसी तरह नागरिकता संशोधन बिल पास कर लिया हो।वहीं कितने भी आश्वासन इसके सम्बन्ध में दे रही हो,किन्तु इसके पश्चात् भी नॉर्थ-ईस्ट में लगातार दूसरे दिन भी लोगों में इस बिल का विरोध-प्रदर्शन जारी रहा। मंगलवार को असम, मणिपुर, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल, मेघालय में प्रदर्शन हुआ।असम में 30 से भी अधिक छोटे-बड़े संगठनों से जुड़े लोग सड़कों पर उतरे। इनमें साहित्यकार, कलाकार, समाजसेवी, व्यापारी, छात्र समेत सभी वर्गों के लोग शामिल रहे। नॉर्थ-ईस्ट में इस बंद को विगत 10 वर्षों  का सबसे प्रभावी बंद बताया जा रहा है। पहली बार सरकार के खिलाफ इतनी बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और कामकाज को ठप रखा। लोग नागरिकता संशोधन बिल वापस लेने और आरएसएस-भाजपा गो-बैक के नारे लगा रहे थे। हालांकि, नगालैंड इस विरोध में शामिल नहीं हुआ।इसका प्रमुख कारण  वहां जारी हॉर्नबिल फेस्टिवल है।

नागरिकता संशोधन बिल पास, वहीं नॉर्थ-ईस्ट में बिल को लेकर भारी उबाल !

दिल्ली: राज्यसभा में विधेयक के पक्ष में 125, जबकि विपक्ष में 105 वोट पड़ेकरीब 8 घंटे तक इस पर बहस हुईबिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- यह विधेयक वर्षों तक उत्पीड़न सहने वाले कई लोगों की पीड़ा दूर करे लोकसभा में सोमवार को 14 घंटे बहस के बाद नागरिकता संशोधन बिल पास हो चुका हैपक्ष में 311 और विपक्ष में 80 वोट पड़ेअमित शाह ने कांग्रेस से कहा- राजनीति करिए, पर देश को मत बांटिए; इससे लगने वाली आग अपना ही घर जलाती है। नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में लोग घरों से निकले, 30 संगठन भी समर्थन में।गुवाहाटी में भाजपा सांसद कुइन ओझा के घर में घुसकर पुतला जलाया।गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी ने परीक्षाएं स्थगित कीं; बसें नहीं चलीं, ट्रेन सेवा भी बाधित।

चंदेरी के वैभव संवारने और सहजने में पूर्व सांसद सिंधिया का महत्वपूर्ण योगदान - जज्जी !

अशोकनगर: स्थानीय विश्राम गृह में शनिवार को जिले के तीनों विधायकों ने सम्मिलित रूप से अशोकनगर नगर में पत्रकार वार्ता करते हुए जिले की सर्वमान एवं इकलौती पर्यटन नगरी चंदेरी पर केन्द्रित जानकारी सांझी की। अशोकनगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी के प्रतिनिधित्व में चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान एवं मुंगावली विधायक बृजेन्द्र सिंह यादव ने पत्रकारों से रूबरू होते हुये क्रमशः सवालों के जबाव देते हुये बताया कि चंदेरी के ऐतिहासिक धरोहरें देख रेख के अभाव और शासन के उचित रूप से ध्यान नहीं देने से यह धीरे धीरे अपना स्वरूप खोती जा रहीं थी।वहीं चंदेरी साड़ियों को बनाने वाले हस्तशिल्पी भी साधनों के अभाव में अत्यंत दयनीय जीवन जीने को मजबूर थे।सिंधिया जी ने अपने सांसद कार्यकाल में उक्त स्थिति को देखा और अपने सप्रयास से जो कार्य अंजाम दिया उसका परिणाम है कि चंदेरी के इन बुनकरों की दिशा दशा में सुधार हुआ है ,वरन् चंदेरी की ऐतिहासिक धरोहर पुनः अपने स्वरूप को पा सकीं है ।जिसके चलते यह चंदेरी विश्व स्तरीय यूनेस्को की सूची में अपना महत्वपूर्ण स्थान बनाने जा रहा है ।

चंदेरी विश्व धरोहर में होगी शामिल !

 अशोकनगर:विश्वपरिदृश्य पर अशोकनगर जिले का चंदेरी कस्बा अतिशीघ्र अपनी नई पहचान बना सकता है। चंदेरी की कला एवं हस्तशिल्प को यूनेस्को की विश्व धरोहर की क्रियेटिव सिटी की सूची में आने के लिये नामंकित कर लिया गया है। यूनेस्को की ओर से बेल्जियम का एक दल शीघ्र ही 98 दिन की यात्रा पर चन्देरी आयेगा ।इस दौरान यह दल चन्देरी की प्राचीन कला एवं संस्कृति के बारे में जानकारी लेगें तथा 10 बिंदुओं के आधार पर मूल्यांकन करेंगे।

उद्धव ठाकरे ने संभाला महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार !

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर आज उद्धव ठाकरे ने कार्यभार संभाल लिया है। वहीं कल विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है और एनसीपी विधायक दिलीप वालसे पाटिल को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया गया है। कल नवनिर्विचित ठाकरे सरकार को बहुमत साबित करना पड़ा सकता है। 

Pages