बीएसएफ बनाएगी दंगा में जला जवान मो.अनीस का घर !

दिल्ली दंगे में खजूरी खास इलाके में बी.एस.एफ. के एक जवान मोहम्म अनीस का घर भी दंगाइयों ने जला दिया था। अब बी.एस.एफअपने जवान की मदद को आगे आया है और उसके घर बनाने में मदद की पेशकश की है। बता दें कि दिल्ली दंगे में अब तक 42 लोगों की मौत हुई है।दिल्ली दंगों में बी.एस.एफ. जवान मोहम्मद अनीस का दंगाइयों ने जला दिया था घर।तीन महीने बाद अनीस की होने वाली है शादी।बी.एस.एफ अपने जवान की मदद को सामने आया है, अनीस की घर बनाने में करेगा मदद।बता दें कि दिल्ली दंगों में 42 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

लीप डे की कुछ रोचक बातें !

लीप ईयर अर्थात फरवरी का महीने जो 29 दिनों का होता है, यह 4 वर्षों में एक बार आता है।ऐसाक्यों होता है कि यह लीप ईयर केवल तीन वर्ष बाद ही क्यों आता है तो आपके के लिए यह जानकारी देते हैं कि धरती को सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में 365 दिन 5 घंटे, 48 मिनट, 46 सेकेंड लगते हैं। यानी कैलेंडर से करीब 6 घंटे अधिक। इसी कारण से हर 4 वर्ष में कैलेंडर में एक बार फरवरी का महीना 29 दिन का होता है, ताकि अतिरिक्त घंटे एडजस्ट हो जाएं।

अपने दादा की तरह पोते ने निभाया इंसानियत का फर्ज !

राष्ट्रीय स्तर के पहलवान मोहम्मद शाहिद के घर में आग लगाने पहुंचे थे ।उपद्रवके चलते  शिष्य शीशराम ने तीन दिन तक दिया उनके घर पर पहरा, दोस्तों का भी लिया साथ। इस तरह एक बार फिर इतिहास दुहराते हुए अपने दादा की तरह पोते ने निभाया इंसानियत का फर्ज 

दिल्ली में हिंसा की आग और वहां के हालत !

दिल्ली : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हो रही हिंसा अब रविवार से थम चुकी है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं, किन्तु मरने वालों की संख्या बढ़कर 32 से बढ़कर 35 पार कर चुकी है। उपद्रव करने वालों का न तो कोई धर्म होता है और न ही कोई जाति। इनकी जितनी भी निंदा की जाये वह इस दिल्ली में हुई हिंसा की भरपाई और इसे रोकने में सरकारके खुफिया तंत्र की असफलता को नही छिपा सकता ।आवश्यकता है दिल्ली की शांति व्यवस्था को आग तथा मौत के आगोस में पहुचाने के दोषियों को जल्दी जल्दी चिन्हितकर कड़ी से कड़ी सजा दी जाये फिर इसके परदे के पीछे छिपा कोई भी कितना बड़ा एवं किसी भी पार्टी का और किसी भी जाति धर्म विशेष का क्यों न हो उसकी पहचान जरुरी है तथा उससे भी अधिक वह सब इंसानियत के दोषी दंड के भागीदार हैं । वहीं फिर एक बार दिल्ली हाईकोर्ट में भड़काऊ भाषण देने वालों पर एफआईआर हो या नहीं इस पर सुनवाई की गई । इस बीच सोनिया गांधी राष्ट्रपति को ज्ञापन देने जाएंगी। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने हिंसा पीड़ितों के लिए राहत कैंप लगाने का निर्णय लिया है। कैंप में दवाइयां भी दी जाएंगी। 

Pages