Breaking News

भारत ने बेंगलुरु में आस्ट्रेलिया को सात विकेट से पछाड़ 2-1से वनडे सीरीज जीती !

बेंगलुरु वनडे में विराट कोहली ने अपने वनडे करियर की सौवीं 50 से ज्यादा रन की पारी खेली और टीम इंडिया की जीत में बड़ी भूमिका निभाई। विराट इस मैच में शतक से चूक गए, लेकिन कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। विराट कोहली अब वनडे क्रिकेट में रन चेज करते हुए सबसे कम पारियों में 7000 रन पूरे करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं।

पत्रकार समाज हित में पूर्ण ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वाह करें - सुरेश डांडोतिया

 

अशोकनगर: मध्य प्रदेश सरकार के कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने पर जनसम्पर्क संचालनालय भोपाल के निर्देशानुसार जिला जन संपर्क कार्यालय अशोकनगर द्वारा जिला मुख्‍यालय पर ‘‘जन सरोकार और मीडिया‘‘ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन स्थानीय मंगल रेसीडेंसी होटल में किया गया। इस संगोष्ठी में मीडिया प्रतिनिधियों को प्रदेश सरकार की गत एक वर्ष की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी गई। ग्वालियर से आए से आये वरिष्ठ पत्रकार दैनिक आचरण के बच्चन बिहारी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्वालियर से आए वरिष्ठ पत्रकार पंजाब केसरी के ब्यूरो चीफ सुरेश डंडोतिया द्वारा की गई। इस अवसर पर सहायक संचालक जन संपर्क अधिकारी एस.एम. सिद्दीकी,जिले के प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक तथा सोशल मीडिया के प्रतिनिधिगण ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन ग्लोरी न्यूज के एडिटर इन चीफ डॉ. डी. एस. संधु द्वारा किया गया।

भारत ने वेस्टइंडीज को 67 रन से हरा 2-1 से जीत ली सीरीज !

भारत ने पहले 240 रन बनाएवेस्टइंडीज की टीम 20 ओवर में विकेट पर 173 रन ही बना सकी। टीम इंडिया ने रनों के लिहाज से वेस्टइंडीज पर दूसरी बड़ी जीत दर्ज की

नॉर्थ-ईस्ट लोगों में बिल का भारी विरोध-प्रदर्शन जारी !

गुवाहाटी: केंद्र सरकार ने चाहे संसद के दोनों सदनों में किसी तरह नागरिकता संशोधन बिल पास कर लिया हो।वहीं कितने भी आश्वासन इसके सम्बन्ध में दे रही हो,किन्तु इसके पश्चात् भी नॉर्थ-ईस्ट में लगातार दूसरे दिन भी लोगों में इस बिल का विरोध-प्रदर्शन जारी रहा। मंगलवार को असम, मणिपुर, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल, मेघालय में प्रदर्शन हुआ।असम में 30 से भी अधिक छोटे-बड़े संगठनों से जुड़े लोग सड़कों पर उतरे। इनमें साहित्यकार, कलाकार, समाजसेवी, व्यापारी, छात्र समेत सभी वर्गों के लोग शामिल रहे। नॉर्थ-ईस्ट में इस बंद को विगत 10 वर्षों  का सबसे प्रभावी बंद बताया जा रहा है। पहली बार सरकार के खिलाफ इतनी बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और कामकाज को ठप रखा। लोग नागरिकता संशोधन बिल वापस लेने और आरएसएस-भाजपा गो-बैक के नारे लगा रहे थे। हालांकि, नगालैंड इस विरोध में शामिल नहीं हुआ।इसका प्रमुख कारण  वहां जारी हॉर्नबिल फेस्टिवल है।

Pages