Breaking News

M.P.

छात्र-छात्राओं की राशि डलवाने विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने सौंपा पत्र !

अशोकनगर: शासकीय नेहरू महाविद्यालय अशोकनगर के अनुसूचित जाति जनजाति के छात्र-छात्राओं को लंबे समय से आवास भत्ता नहीं मिला है, जिसके कारण आर्थिक रूप से कमजोर महाविद्यालयीन विद्यार्थी परेशान हैं। इसी बात का संज्ञान लेते हुए क्षेत्रीय विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने गुरुवार को भोपाल में आदिम जाति अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम से भैंटकर उन्हें स्थिति से अवगत कराया और शीघ्रता से आवास भत्ते की राशि छात्र-छात्राओं के खाते में डलवाने की बात रखी।

बाल प्रोत्साहन मेला में जमकर थिरके विधायक जज्जी !

 

अशोकनगर : समाज सेवी संस्था "प्रयास एक पहलबदलाव की " द्वारा स्थानीय शगुन गार्डन में ऐसे गरीब एवं दिव्यांग बच्चों के लिए सांस्कृतिक एवं बाल मेला का आयोजन किया गया।यह अनुठाआयोजन उन वंचित तथा असहाय  बच्चों के लिए रखा गया जो तमाम संभावनाओं के होते हुये भी अपनी छुपी प्रतिभा दिखाने संवारने इससे पूर्व कभी किसी भी  मंच पर जाने का कोई अवसर नहीं मिला। इस अभिनव कार्यक्रम के मुख्यातिथि हरमन अजीज अशोक नगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी एवं अध्यक्षता जिला शिक्षा अधिकारी आदित्य नारायण मिश्रा ने करते हुए बच्चों की हौसला अफजाई की।बच्चों के इस आयोजन को देखकर न सिर्फ इसकी दिल से सराहना की वरन् मंचासीन अतिथिगण स्वयं को भी इस अवसर पर राष्ट्रीय गीतों की धचन पर थिरकने से नहीं रोक सके।विधायक जज्जी ने इतना गरम जोशी तथा दिल से भांगड़ा किया कि दर्शक भी तनमयता से उनका साथ देने में पीछे नहीं रहे।

चंदेरी के वैभव संवारने और सहजने में पूर्व सांसद सिंधिया का महत्वपूर्ण योगदान - जज्जी !

अशोकनगर: स्थानीय विश्राम गृह में शनिवार को जिले के तीनों विधायकों ने सम्मिलित रूप से अशोकनगर नगर में पत्रकार वार्ता करते हुए जिले की सर्वमान एवं इकलौती पर्यटन नगरी चंदेरी पर केन्द्रित जानकारी सांझी की। अशोकनगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी के प्रतिनिधित्व में चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान एवं मुंगावली विधायक बृजेन्द्र सिंह यादव ने पत्रकारों से रूबरू होते हुये क्रमशः सवालों के जबाव देते हुये बताया कि चंदेरी के ऐतिहासिक धरोहरें देख रेख के अभाव और शासन के उचित रूप से ध्यान नहीं देने से यह धीरे धीरे अपना स्वरूप खोती जा रहीं थी।वहीं चंदेरी साड़ियों को बनाने वाले हस्तशिल्पी भी साधनों के अभाव में अत्यंत दयनीय जीवन जीने को मजबूर थे।सिंधिया जी ने अपने सांसद कार्यकाल में उक्त स्थिति को देखा और अपने सप्रयास से जो कार्य अंजाम दिया उसका परिणाम है कि चंदेरी के इन बुनकरों की दिशा दशा में सुधार हुआ है ,वरन् चंदेरी की ऐतिहासिक धरोहर पुनः अपने स्वरूप को पा सकीं है ।जिसके चलते यह चंदेरी विश्व स्तरीय यूनेस्को की सूची में अपना महत्वपूर्ण स्थान बनाने जा रहा है ।

चंदेरी विश्व धरोहर में होगी शामिल !

 अशोकनगर:विश्वपरिदृश्य पर अशोकनगर जिले का चंदेरी कस्बा अतिशीघ्र अपनी नई पहचान बना सकता है। चंदेरी की कला एवं हस्तशिल्प को यूनेस्को की विश्व धरोहर की क्रियेटिव सिटी की सूची में आने के लिये नामंकित कर लिया गया है। यूनेस्को की ओर से बेल्जियम का एक दल शीघ्र ही 98 दिन की यात्रा पर चन्देरी आयेगा ।इस दौरान यह दल चन्देरी की प्राचीन कला एवं संस्कृति के बारे में जानकारी लेगें तथा 10 बिंदुओं के आधार पर मूल्यांकन करेंगे।

Pages