Ashok nagar

जिला चिकित्सालय में फल वितरण कर मनाया आजादी का पर्व

सोशल पीस फाउंडेशन समिति ने  जिला चिकित्सालय में भर्ती स्वास्थ्य लाभ ले रहे रोगियों को उनके पलंग के पास पहुंच कर ससम्मान पेकिंग किये फल तथा बिस्कुट के पाउच प्रदान करते हुए सभी मरीजों के शीघ्र स्वास्थ्य होने की कामनाओं के साथ देश की आजादी के इस महापर्व को हंसी खुशी मनाया तथा अपनी मानवीय भावनाओं का इजहार करते इन बीमार तथा जरूरत मंदो के बीच पहुंच कर इन्हें कुछ देर के लिए ही सही अपनत्व प्रदान किया ।

प्रतिबंधित गतिविधियों को सशर्त प्रारंभ करने कलेक्टर ने दिये आदेश !

अशोकनगर : कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ.

प्रतिबंधित गतिविधियों को सशर्त प्रारंभ करने कलेक्टर ने दिये आदेश !

अशोकनगर : कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ.

कलेक्टर ने मृतक के परिवार को दी 8लाख 25 हजार की आर्थिक सहायता !

अशोकनगर : जिले के थाना बहादुरपुर क्षेत्र के ग्राम कुलुआ चक्क में विगत दिनों हुए विवाद में खुमान सिंह आदिवासी की मृत्यु हो जाने तथा मकान जल जाने से बेघर हुए पीडि़त परिवार के बीच पहुंचकर जिला कलेक्टर डॉ.मंजू शर्मा ने पीडि़तों को ढांढस बधाया एवं मृतक की पत्नि श्रीमति सावित्री बाई आदिवासी को 08 लाख 25 हजार रूपये तथा 04 अन्य घायलों को 75-75 हजार रूपये की आर्थिक सहायता राशि अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत स्वीकृत कर चैक प्रदान करते हुये उन्होंने कहा कि इस दुख: की घड़ी में शासन प्रशासन आपके साथ है। अतःशासन प्रशासन द्वारा पीडि़त परिवारों के लिए हर संभव मदद की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस एवं जिला प्रशासन द्वारा निष्पक्ष जांच की जाकर दोषियों के विरूद्ध के कार्यवाही की जायेगी। घटनास्थल का लिया जायजा:- कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा द्वारा शनिवार को कुलुआ चक्क पहुंचकर आगजनी की घटना से जले हुए मकान स्थल का निरीक्षण कर जायजा लिया।पीड़ितों को किया चेक प्रदाय:- कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा ने पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें जिला रेडक्रॉस सोसायटी के माध्यम से 25 हजार रूपये का चेक मौके पर सौंपा। साथ ही उन्होंने खाद्य सामग्री का वितरण पीड़ित परिवार को किया। ग्रामीणों की मौके पर ही मांग स्वीकृत:- कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा ने ग्रामीणों की मांग पर मौके पर ही एक हैंडपंप लगाए जाने की स्

जन समुदाय की प्रभावी सहभागिता ही डेगू नियंत्रण की कुंजी-डॉ.दीपा

अशोकनगर : विश्व डेंगू दिवस16मई को मनाया जाता है। मई माह में विश्‍व डेंगू दिवस मनाने का उद्वेश्य प्री-मानसून माह में डेंगू के प्रति लोगों को जागरूक करना है। जून माह से बारिश प्रांरभ हो जाती है। जगह-जगह मच्छरों के पनपने के लिए पानी स्त्रोत बन जाते है। जिससे मच्छर पनपने लगते है। मच्छर से फैलने वाले रोग जैसे डेंगू, मलेरिया,चिकुनगुनिया अपने पैर पसारने लगते हैं। इन बीमारियों से बचने का एकमात्र उपाय इनके प्रति जागरूक होना एवं आवश्यक सावधानी रखना है। मच्छर अपने अण्डे पानी में देते है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ.दीपा गंगेले ने बताया कि सावधानी, सुरक्षा एवं उपाय अपनाने से मच्छरजन्य बीमारियों से बच सकतें हैं। गर्मी के प्रारंभ से ही अधिकांश घरों में कूलरों का उपयोग शुरू हो गया। कूलर के पानी को प्रति सप्ताह बदल दें एवं कूलर को साफ करके धूप में सुखा लें। सप्ताह के प्रत्येक रविवार को 1 घंटा अपने घर पर भरे पानी को बदलने के लिए दें। सप्ताह के प्रति रविवार अपने घर में रखें पानी को चेक करे एवं उसे बदलने का कार्य करें। एक सप्ताह में मच्छर के अण्डे लार्वा में बदल जाते है। पानी भर कर न रखे,अति आवश्यकता होने पर उसे अच्छे से ढंक कर रखें।अपने घर के चारों ओर पानी भरा न रहने दें, भरे हुए पानी में प्रति सप्ताह जला हुआ ऑयल ,केरोसीन या खाने का तेल भी डाला जा सकता है। अपने छत पर रखे कबाडे को साफ कर दे। अनावश्यक

Pages