Delhi & NCR

वेदी,,मुखी,माकन हुए ढेर ,यह मोदी की हार है -अन्ना हजारे

नई दिल्ली: आप ने सबको चौंकाते हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस इकतरफा अंदाज में परास्त कर दिया। 70 सीटों में से वह 67 सीटें जीतने जा रही है। केन्द्र में सत्तारूढ़ भाजपा को बड़ा झटका लगा है और वह केवल तीन सीटों पर सिमट गई है। वह विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद के लिए भी दावा नहीं कर सकती है। वहीं कांग्रेस का तो दिल्ली में सफाया हो गया है और वह एक भी सीट नहीं जीत पाई।नई दिल्ली से केजरीवालविजयी-आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली सीट से चुनाव जीत लिया है। उन्होंने भाजपा की नुपूर शर्मा को हराया। आप ने चांदनी चौक, कृष्णा नगर, पटेल नगर और जनकपुरी जैसी भाजपा-कांग्रेस की परंपरागत सीटें भी अपने खाते में डाल ली। मोदी, राहुल-सोनिया ने दी बधाई-पीएम मोदी ने भी केजरीवाल को फोन कर बधाई और टि्वटर पर भी उन्हें जीत की मुबारकबाद दी। भाजपा की सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी ने भी ट्वीट कर केजरीवाल को बधाई दी। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष स

एसआईटी 1984 के दंगों की फिर से कर सकती है जांच

नई दिल्ली:सिख विरोधी दंगे1984 की दोबारा जांच करने के लिएकेद्र सरकार द्वारा नियुक्त एक समिति ने विशेष जांच बल (एसआईटी) गठित करने की सिफारिश की है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि समिति के प्रमुख सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस (सेवानिवृत) जी पी माथुर ने विगत सप्ताह अपनी रिपोर्ट केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सौंप दी है। अपनी रिपोर्ट में उन्होंने सिख विरोधी दंगों की पुन: जांच एसआईटी से करवाने की सिफारिश की है।सूत्रों ने बताया कि इस आश्य की घोषणा सात फरवरी को दिल्ली विधानसभा चुनावों के बाद हो सकती है क्योंकि इस वक्त राष्ट्रीय राजधानी में आचार संहिता लगी हुई है। इससे पहले, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सभी सिख विरोधी दंगों की फिर से कराने की मांग की थी।जस्टिस नानावती आयोग ने पुलिस द्वारा बंद 241 मामलों में से महज 4 मामलों की फिर से जांच करवाने की सिफारिश की थी। हालांकि, भाजपा की मांग थी की बाकी के 237 मामलों की भी फिर से जांच होनी चाहिए।अभी यह पता नहीं चल पाया है कि जस्टिस माथुर ने अपनी रिपोर्ट

Pages