Delhi & NCR

डॉ. अब्दुल कलाम के नाम से जानी जाएगी औरंगजेब रोड !

नई दिल्ली: औरंगजेब रोड अब पूर्व राष्ट्रपति स्व. डॉ. अब्दुल कलाम के नाम पर जानी जाएगी। इस आशय का प्रस्ताव एनडीएमसी की बैठक में पास हो गया। कलाम के निधन के बाद से ही दिल्ली की एनडीएमसी एरिया के अंतर्गत आने वाली एक प्रमुख सड़क का नाम उनके नाम पर रखने की मांग उठती रही है। वहीं इस फैसले का विरोध होना भी शुरू हो गया है।सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अरविंद केजरीवाल से ट्वीट करके कहा है कि आप औरंगजेब के बारे में सही तथ्य पढ़ें। वहीं उन्होंने दूसरा ट्वीट कर सवाल उठाया कि बीजेपी नेताओं ने इसका प्रस्ताव किया और दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने इसे इंप्लिमेंट किया। ये दोनों का क्या संदेश दे रहे हैं।वहीं शुक्रवार को औरंगजेब रोड का नाम बदल कर डॉ.

एआईपीएमटी की परीक्षा रद्द !

 

नई दिल्ली: एआईपीएमटी(ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट) में हुई धांधली के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए परीक्षा रद्द कर दी है और साथ ही सीबीएसई को चार सप्ताह में फिर से परीक्षा आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने माना कि 3 मई को एआईपीएमटी का पेपर लीक हुआ था। गौरतलब है कि एआईपीएमटी का परिणाम 5 जून को घोषित किया जाना था, लेकिन परीक्षा में हुई तमाम गड़बडियों के चलते सुप्रीम कोर्ट ने परिणाम पर स्टे लगा दिया था।इसी दिन सीबीएसई ने कोर्ट से गुजारिश की थी कि वह परीक्षा रद्द न करे और सीबीएसई खुद नकल करने वाले अभ्यर्थियों के खिलाफ एक्शन लेगा, लेकिन सुप्रीम कार्ट न सीबीएसई की एक भी दलील नहीं सुनी और आखिरकार सोमवार को एआईपीएमटी की परीक्षा रद्द कर दी।इस मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सोमवार (15 जून) तक के लिए सुरक्षित रख दिया था।

कांग्रेस ने कहा ललित की मदद में पीएम तथा अमित शाह का हाथ !

नई दिल्ली:प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की नोटिस पाने वाले आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की कथित मदद के मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस ने जमकर निशाना साधा। कांग्रेस के संचार विभाग प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भूमिका पर संदेह जताते हुए सवाल किया कि क्या मोदी, ललित मोदी की मदद कर रहे है?

युवती गांव लौटी तो उसका करेंगे गैंगरेप !

प्रेम विवाह के खिलाफ गाज़ियाबाद क्षेत्र के ही एक गांव में पंचायत ने एक तुगलकी फरमान जारी किया है। जिसमें कि दोनों युवक-युवती को गांव से निकाल दिया है। कहा है कि यदि युवती गांव लौटी तो उसके साथ गैंगरेप किया जाएगा और यदि युवक लौटा तो उसे गोली मार दी जाएगी।

फर्जी डिग्री:पूर्व कानून मंत्री तोमर को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेजा !

नई दिल्ली:जीतेंद्र तोमर दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री ने जमानत के लिए सेशन कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। साथ ही तोमर ने मजिस्ट्रेट कोर्ट के फैसले के खिलाफ भी अपील दायर की है। मजिस्ट्रेट कोर्ट ने मंगलवार को जीतेंद्र को फर्जी डिग्री मामले में पुलिस कस्टडी में भेज दिया था। तोमर ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।तोमर को पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए फैजाबाद ले लाया गया है। जीतेंद्र ने फैजाबाद से ही कथित रूप से फर्जी बीएससी डिग्री ली है। तोमर को मंगलवार को फर्जी डिग्री मामले में गिरफ्तार किया गया था। 49 वर्षीय तोमर को उनकी गिरफ्तारी के कुछ घंटों बाद ही सिटी कोर्ट के आदेश पर चार दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।तोमर ने दावा किया है कि उनकी डिग्री के साथ कुछ भी गलत नहीं। उन्होंने कहा कि मैंने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दिया है। मैं ये केस लडूंगा और जीतूंगा। इसके बाद मैं पार्टी के लिए काम कूरंगा। माना जा रहा है कि अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार को उप

Pages