नये कृषि कानूनों का जारी घौर विरोध !

पंजाब से आराम्भ हो हरियाणा, राजस्थान,हिमाचल, उत्तराखंड़ उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश सहित सारे देश में इतनी प्रचंडता के साथ इन तीन कृषि कानूनों का रफ्ता-रफ्ता किसानों ,मजदूरों, नौजवानों के साथ साथ आम जन में विरोध बढ़ता ही चला जा रहा है। जिसमें सौ के लगभग आंदोलनकारी महिला-पुरष, वृद्ध जवान अभी तक शहीद हो चुके हैं।सरकार ने अपनी पूरी दम लगा दी कि किसान कैसे तो भी आंदोलन बंद करके चुपचाप घर बैठ जायें और वो अपनी मन मर्जी करते हुए तथा कृषि सुधार के नाम पर यह नये कृषि कानून थोप दिये जायें, जिसे आंदोलनकारी काले कानून बोल रही है।वहीं देश की केंद्र सरकार कह रही है कि हम मंडियों में सुधार के लिए यह कानून लेकर आ रहे हैं।किन्तु, सच में देखा जाये तो कानून में कहीं भी मंडियों की समस्याओं के सुधार करने के इन कानूनों में कहीं से कहीं तक चर्चा नजर नहीं आ रही है।

नये कृषि कानूनों का जारी घौर विरोध !

दिल्ली/अशोकनगर: पंजाब से आराम्भ हो हरियाणा, राजस्थान,हिमाचल, उत्तराखंड़ उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश सहित सारे देश में इतनी प्रचंडता के साथ इन तीन कृषि कानूनों का रफ्ता-रफ्ता किसानों ,मजदूरों, नौजवानों के साथ साथ आम जन में विरोध बढ़ता ही चला जा रहा है।जिसमें सौ के लगभग आंदोलनकारी महिला-पुरष, वृद्ध जवान अभी तक शहीद हो चुके हैं।सरकार ने अपनी पूरी दम लगा दी कि किसान कैसे तो भी आंदोलन बंद करके चुपचाप घर बैठ जायें और वो अपनी मन मर्जी करते हुए तथा कृषि सुधार के नाम पर यह नये कृषि कानून थोप दिये जायें, जिसे आंदोलनकारी काले कानून बोल रही है।वहीं देश की केंद्र सरकार कह रही है कि हम मंडियों में सुधार के लिए यह कानून लेकर आ रहे हैं।किन्तु, सच में देखा जाये तो कानून में कहीं भी मंडियों की समस्याओं के सुधार करने के इन कानूनों में कहीं से कहीं तक चर्चा नजर नहीं आ रही है।

कोविड नियंत्रण के निर्देश प्रशासन और पुलिस सख्ती से लागू करेगी !

अशोकनगर : शनिवार को कोरोना संक्रमण के प्रकरणों में आई बढ़ोत्तरी को दृष्टिगत रखते हुए जिले में कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए नई रणनीति तैयार करने हेतु कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक कलेक्टर अभय वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में विधायक चंदेरी गोपाल सिंह चौहान,पुलिस अधीक्षक रघुवंश सिंह भदौरिया,अपर कलेक्टर डॉ अनुज रोहतगी,सांसद प्रतिनिधि,पूर्व विधायक गण,समाज सेवी तथा आपदा प्रबंधन समूह के सदस्य भी उपस्थित रहे। कलेक्टर अभय वर्मा ने सभी उपस्थित सदस्यों एवं जनप्रतिनिधियों के महत्वपूर्ण सुझावों पर सर्वसम्मति से प्रस्ताव प्राप्त किए ।प्रस्ताव स्वीकृति हेतु राज्य शासन को प्रेषित किए ।
विवाह एवं अन्य समारोह में अधिकतम 100 व्यक्ति हो सकेंगे शामिल:-

उप निर्वाचन के आंकड़ों से भाजपा सरकार का बचना संदिग्ध !

भोपाल : म.प्र. के राजनैतिक इतिहास में अभी तक का सबसे बढ़ा उल्टफेर तथा एक साथ 22विधायकों के सामूहिक रुप से अपने नेता ज्योतिरादित्य सिधिंया के समर्थन में सत्तारूढ़ दल कॉग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के कारण मार्च के महिने में कॉग्रेस की सरकार अल्पमत में आ गई थी ।जिसके कारण सीएम कमलनाथ ने अविलम्ब अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया था।इसके पश्चात शिवराज सिंह चौहान भाजपा की सरकार बनाते हुए चौथी बार सीएम बने। उल्‍लेखनीय है कि मध्‍य प्रदेश में सत्‍ता के ल‍िहाज से इन 28 सीटों पर उपचुनाव काफी महत्‍वपूर्ण माने जा रहे हैं। इनसे ही राज्‍य की शिवराज सिंह चौहान सरकार और कांग्रेस अध्‍यक्ष कमल नाथ का राजनीतिक भविष्‍य तय होगा।मध्‍य प्रदेश में ग्‍वालियर, डबरा, बमोरी, सुरखी, सांची, सांवेर, सुमावली, मुरैना, दिमनी, अंबाह, मेहगांव, गोहद, ग्‍वालियर पूर्व, भांडेर,करैरा, पोहरी, अशोकनगर, मुंगावली, अनूपपुर, हाटपिपल्‍या, बदनावर, सुवासरा, बड़ा मलहरा, नेपानगर, मांधाता, जौरा, आगर और ब्‍यावरा सीट के लिए उपचुनाव कराए गए हैं।

तेजस्वी की आँधी से हो सकती है एनडीए धराशायी !

पटना: विधानसभा चुनाव 2020 बिहार राज्य में इस बार तेजस्वी यादव की आंधी चलती हुई दिखाई दे रही है. एग्जिट पोल के अनुसार, इस बार महागठबंधन बिहार में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रहा है।ग्लोरी न्यूज एग्जिट पोल के अनुसार, बिहार में *महागठबंधन* को 140 से 161 तक सीटें मिल सकती हैं. जबकि *एनडीए* 100 से भी कम सीटों पर सिमट हुआ दिख सकता है ।दूसरे शब्दों में यह कह सकते हैं कि नीतीश कुमार को बिहार की सत्ता से विदाई होते नजर आ रही है।
एग्जिट पोल के अनुसार, इस बार एनडीए सिर्फ 68 से 91 सीटों के बीच में सिमट सकती है। जबकि जदयू को सबसे अधिक नुकसान हो रहा है, नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए को चुनाव लड़ना अत्यंत भारी पड़ता स्पष्ट दिख रहा है और नीतीश की सत्ता से विदाई होनी निश्चित लग रही है। खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि ये उनका अंतिम विधानसभा चुनाव हो सकता है! बिहार में 10 नवंबर को परिणाम घोषित किए जाने हैं।

*एग्जिट पोल के अनुसार किसे कितनी सीट:-* • *महागठबंधन* को 139 से 161 सीटें,
• *एनडीए* को 68 से 91 सीटें , • *लोजपा* को 3 से 5 सीटें ,• *GDSF* को 3 से 5 सीटें,
• *अन्य* को 3 से 5 सीटें ।

Pages