अत्यंत सुखद खबर कोविड19 को परास्त करने भारत ने इजाद किया हथियार !

दुनियाभर में कोरोना कोविड19 का कहर अपने आगोश म़े लखो लोगों को समेटते हुए असमय मार चुका है ।जिससे निपटने के लिए लाखों वैज्ञानिक और चिकित्सक अपने पूरे दम से रात दिन प्रयास में जुटे हुये है किन्तु अभी तक कोई मुकंबल स्तर तक नहीं पहुंच सके हैं।इस बीच पॉन्डिचेरी विश्व विद्यालय के एक भारतीय छात्र रामू ने Covid19 का घरेलू उपचार की खोजकर एक सुखद समाचार जन जन तक पहुंचा ने का महान कार्य कर दिखाया है।

अयोग्यता याचिकाएं लंबित होने तक सरकार में मंत्री बनाने की इजाजत नहीं- सुप्रीम कोर्ट !

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष को उस याचिका पर नोटिस जारी किया है जिसमें कहा गया है कि भाजपा में शामिल होने वाले कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ दायर अयोग्यता याचिकाएं लंबित होने तक उन्हें शिवराज सरकार में मंत्री नियुक्त करने की इजाजत नहीं दी जा सकती।

जिला चिकित्सालय में फल वितरण कर मनाया आजादी का पर्व

सोशल पीस फाउंडेशन समिति ने  जिला चिकित्सालय में भर्ती स्वास्थ्य लाभ ले रहे रोगियों को उनके पलंग के पास पहुंच कर ससम्मान पेकिंग किये फल तथा बिस्कुट के पाउच प्रदान करते हुए सभी मरीजों के शीघ्र स्वास्थ्य होने की कामनाओं के साथ देश की आजादी के इस महापर्व को हंसी खुशी मनाया तथा अपनी मानवीय भावनाओं का इजहार करते इन बीमार तथा जरूरत मंदो के बीच पहुंच कर इन्हें कुछ देर के लिए ही सही अपनत्व प्रदान किया ।

राजस्थान में गहलोत सरकार ने जीता विश्वास मत

अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने विधानसभा में विश्वासमत जीत लिया है। सदन ने सरकार द्वारा लाए गए विश्वासमत प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया। विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ने सदन द्वारा मंत्रिपरिषद में विश्वास व्यक्त करने का प्रस्ताव स्वीकार किए जाने की घोषणा की। इसके बाद सदन की कार्रवाई 21 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी गई।

इसरो के पूर्व वैज्ञानिक ने जासूसी मामले में लड़ी लम्बी क़ानूनी लड़ाई !

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के पूर्व वैज्ञानिक नांबी नारायण ने खुद पर लगे देश की जासूसी करने के झूठे आरोप के खिलाफ 26 वर्ष तक लंबी कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद अब कोर्ट के फैसले से संतुष्ट हैं। नांबी नारायण की उम्र 79 वर्ष है। उन्होंने कहा कि वो पूरी तरह से संतुष्ट तब होंगे जब उन अधिकारियों को सजा मिलेगी, जिन्होंने नांबी नारायण को देश की जासूसी करने के मामले में गलत तरीके अपनाकर झूठा फंसाया था।

Pages